टोटी चोर की अपार सफलता के बाद, पेश है: खिड़की-दरवाजा डकैत। - FakeTalks
Technology 📱
Trending

टोटी चोर की अपार सफलता के बाद, पेश है: खिड़की-दरवाजा डकैत।

नमस्कार दोस्तों,

जैसा की आप सबको हम पहले भी बता चुके हैं जब सरकारी बंगला खाली करते वक्त अखिलेश यादव जी ने बंगले की टूटियां तक उतार कल साथ ले गए थे। लोगों ने इस हरकत की काफी आलोचना की थी, इंटरनेट पर इस बात का काफी मजाक भी उड़ाया गया था और उनको टोटी चोर के नाम से प्रसिद्ध कर दिया गया।

आज एकदम ऐसी ही खबर हम आपको बताने जा रहे हैं, आज दिल्ली में सरकारी बंगला खाली करते वक्त बंगले की खिड़कियां और दरवाजे भी ऊखाड़ लिए। आप सब लोग यह जानना चाहेंगे क्यों ऐसा कौन सा इंसान था जिसने सरकारी बंगले की खिड़कियां दरवाजे भी उखाड़े लिए?!

हमारे सूत्रों के अनुसार यह इंसान कोई और नहीं, बल्कि बिहार के पूर्व सांसद पप्पू यादव हैं। अभी कुछ दिन पहले पप्पू यादव बिहार में आई बाढ़ के बाद पीड़ितों को खाना और पानी बांटते हुए नज़र आ रहे थे, उनकी बहुत सी तस्वीरें इंटरनेट पर छाई रही। मगर आज बलवंत राय मेहता लेन के 11 नंबर सरकारी बंगले को खाली करते वक्त उन्होंने सारी हदें पार कर दी। कुछ दिन पहले ही दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल जी ने, बिहारियों के दिल्ली में आकर इलाज करवाने पर अपनी नाराजगी व्यक्त की थी। और आज एक बिहार के ही पूर्व सांसद ने दिल्ली के सरकारी बंगले को खंडहर में तब्दील कर दिया।

आज तक तो सब यही जानते थे कि खंडहर सिर्फ समय द्वारा ही बनाए जा सकते हैं, मगर आज पप्पू यादव जी ने हम सभी का यह भ्रम भी तोड़ दिया। जो कल तक एक पूर्व सांसद का शानदार सरकारी बंगला था, आज वह एक उजड़ा हुआ खंडहर है। सूत्रों के अनुसार कमरों से खिड़कियां दरवाजे उखाड़ दिए गए, दीवारों पर लगी टाइल्स तोड़ दी गई, बंगले का फर्नीचर बर्बाद कर दिया, और एक सरकारी बंगले को खंडहर में तब्दील कर दिया।

नियमों के मुताबिक सरकारी बंगला खाली करने से पहले, अगर अपनी सुविधा के लिए उसमें कोई आंतरिक निर्माण करवाया है तो उसे हटाना जरूरी है। मगर पप्पू यादव जी ने इस नियम को बहुत ज्यादा गंभीरता से लगा लिया, बड़ा दिल होने की वजह से दिल पर लगाई गई है बात सरकारी बंगले के लिए बहुत घातक साबित हुई।

इतना बुरा बर्ताव तो पुराने जमाने की नौजवान विधवा के साथ भी नहीं होता होगा जितना आज इस बंगले के साथ किया गया। हमें पूरी उम्मीद है कि इंटरनेट पर इसकी चर्चा बहुत देर तक चलेगी। हम आप सब पाठकों से यह जानना चाहेंगे की टोटी चोर के बाद, अब इस “खिड़की-दरवाजे की डकैती” को क्या नाम देंगे। आइए मिलकर देखें कि दिल्ली में सरकारी बंगले के साथ किए गए इस हिंसक बलात्कार के खिलाफ कौन-कौन आवाज उठाएगा।

नमस्कार।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close