अमेजॉन की सेल हुई मोदी-फाईड - FakeTalks
Business 🕴️

अमेजॉन की सेल हुई मोदी-फाईड

दिल्ली – जैसा कि आप सब लोग जानते हैं कि सितंबर 2019 में हुए अमेजॉन की सेल में कई करोड़ों की बिक्री हुई थी। इकनॉमिक टाइम्स में छपी खबर के अनुसार अमेजॉन इंडिया ने 36 घंटे में तकरीबन 750 करोड रूपए की बिक्री करी।

कंपनी ने हमारे संवाददाता को यह नहीं बताया कि इस सेल में कुल मिलाकर कितने की बिक्री हुई, यह कंपनी की सबसे सफल सेल है जिस में कंपनी ने 750 करोड रुपए के महंगे स्मार्टफोंस बेचे है। विशेषज्ञों के अनुसार साल भर में ई-कॉमर्स ऐसी ही सेल लगाकर तकरीबन $5 बिलियन का कारोबार कर लेते हैं।

सोशल मीडिया पर यह अटकलें भी लगाई जा रही है कि इन सेल में सबसे ज्यादा सामान खरीदने वालों पर सरकार की पैनी नजर रहेगी। ऐसी अटकलों के चलते हमने कुछ नेता की राय जानने की कोशिश करी।

राहुल जी ने अपनी फटी हुई जेब दिखाते हुए कहा मैं तो कुछ नहीं खरीदा, और मम्मी कहां से खरीदी है यह मैं पूछता नहीं। मगर उन्होंने यह भी बताया कि इस तरह के फिजूल खर्चों के कारण ही देश में भारी मंदी है, उन्होंने इस बात पर भी दुख जताया कि गरीब लोग फोन नहीं खरीद सकते। हमारे संवाददाता के पूछने पर उन्होंने बताया कि अगर गरीब को फोन खरीदना हो तो फोन ही नहीं मिलता क्योंकि अमीर ही सारे फोन खरीद लेते हैं। उन्होंने जनता की इस गलत सोच का कारण मोदी की नीतियों को बताया।

केजरीवाल जी ने मुस्कुराते हुए बताया कि मैंने तो पहले ही सारे कार्यकर्ताओं को आगाह कर दिया था कि इस सेल में मोदी जी की कोई चाल है। जब हमने उन्हें बताया कि 750 करोड रुपए के स्मार्टफोन बिके हैं तो उन्होंने कहा: स्मार्टफोन ने जनता को बर्बाद कर दिया है। तभी भीड़ में से किसी ने कहा की फोन तो राजीव गांधी लाए थे, और फिर एक आवास ने बोला यही है रायते कि जड़; मारो…. भीड़ के बेकाबू हो जाने के बाद हमारे संवाददाता इससे आगे की खबर नहीं जुटा पाए।

इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर हमारे संवाददाता कि मुलाकात शशि थरूर जी से हुई, उन्होंने यह खबर जानने के बाद कहा: हम तो भाई पुराने लोग हैं, फोन से हमारा काम नहीं चलता… हम तो असल जिंदगी में छू कर, मिल बैठकर बात करने वाले लोग हैं। आज के नौजवानों के लिए संदेशा देते हुए उन्होंने कहा “कुछ समय तक तो फोटो/फोन ठीक है, मगर असली जिंदगी तो असली ही होती है। घर से बाहर आओ और जिंदगी का आनंद लो।”

हमारी भी अपने पाठकों से गुजारिश है कि चाहे जिंदगी कितनी ही तन्हा, उदास, या फिर व्यस्त क्यों ना हो…. आप लोग घर से बाहर निकले और जिंदगी के मजे ले। हो सकता है जिंदगी के कुछ पल/मज़े अस्थाई हो, मगर इन अस्थाई मज़ों के दरिया से गुजर कर ही स्थाई मजे मिलेंगे।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close